लाॅक डाउन का सख्ती से पालन करे डीएम

0
66

सीएम नीतीश ने दिए डीएम को आदेश
बिहार में कोरोना तेजी से पांव पसार रहा है, बुधवार को भी 4 हजार से अधिक नए केस सामने आए है, बिहार में फिलहाल एक्टिव केस एक लाख के पार है, सीएम के निर्देश पर सरकार ने कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर राज्य में 15 मई तक पूर्ण लॉकडाउन लागू कर दिया है। सब्जी और अन्य दुकाने सुबह सात बजे से 11 बजे तक खुलेगी, 11 बजे के बाद जो भी दुकाने खुली पाई जाएगी, उसे सील कर दिया जाएगा। सरकार ने अधिकारियों को लॉकडाउन को पूरी सख्ती से लागू करने का निर्देश दिया है। इस बीच सीएम नीतीश कुमार ने लोगों से गाइडलाइंस का पालन करने और यदि संभव हो तो शादी को कुछ समय के लिए स्थगित करने का अनुरोध किया है। इसे लेकर मुख्यमंत्री ने दो ट्वीट किए हैं। सीएन ने ट्वीट कर कहा, कोरोना महामारी से लोगों की सुरक्षा के लिए राज्य सरकार तत्परता के साथ जरूरी कदम उठा रही है। कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए जनहित में आज से 15 मई तक लॉकडाउन लगाने जैसा कठिन निर्णय भी लेना पड़ा है। गाइडलाइंस का पालन कर कोरोना से मुक्ति के प्रयास में सरकार का सहयोग करें। कोरोना की चेन तोड़ने के लिए शादी को कुछ समय के लिए स्थगित करने का अनुरोध करते हुए सीएम ने लिखा, कोरोना से उत्पन्न अभूतपूर्व संकट की घड़ी में प्रदेशवासियों से आग्रह है कि शादी-विवाह जैसे खुशी के सामाजिक आयोजन, जिनमें कई जगहों के लोग जुटते हैं, को यदि कुछ समय के लिए स्थगित कर दें, तो कोरोना संक्रमण के चेन को तोड़ने में मदद मिलेगी। यह आपके परिवार और समाज के हित में होगा। बिहार में बुधवार से कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर लॉकडाउन लगा दिया गया है। पटना हाईकोर्ट से मिली फटकार के बाद नीतीश कुमार सरकार राज्य में लॉकडाउन लगाने को मजबूर हुई है। राज्य सरकार पर अब बीजेपी ने भी हमला बोला है। बिहार बीजेपी अध्यक्ष ने सीएम और जेडीयू नेताओं पर तंज कसा है। सोशल मीडिया पर उन्होंने कई ट्वीट करके सरकार को आईना दिखाने की कोशिश की है।

लॉकडाउन पर शुरू हुई सियासत
बिहार बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल ने फेसबुक पर पोस्ट कर लिखा, आज से बिहार सरकार ने 11 दिनों का लॉकडाउन लगा दिया है। कृपया इसका पालन करें और अपने तथा अपने परिवार की जीवन रक्षा करें। नागरिकों के हित के लिए सरकारों को कुछ कठिन फैसले लेने ही पड़ते हैं। आज भी विश्व के आधे देशों के विभिन्न राज्यों में लॉकडाउन लगा हुआ है। राज्यपाल जी की बैठक में जब मैंने 62 घंटे के शुक्रवार शाम से सोमवार सुबह तक के लॉकडाउन की बात की थी तब बिहार में केस 40 हजार से कम थे पर आज एक लाख से ज्यादा एक्टिव केस होने के कारण बिहार सरकार के पास जनता की भलाई का कोई दूसरा विकल्प नहीं है।
जेडीयू नेताओं को दी नसीहत
भाजपा सांसद ने उपेंद्र कुशवाहा और ललन सिंह जैसे जेडीयू नेताओं का नाम लिए बिना उन्हें नसीहत दी है। उन्होंने लिखा, श्मेरा नाम लेकर राजनीतिक बयानबाजी करने वाले नेताओं से भी उम्मीद है कि उन्हें जमीनी हकीकत समझ में आ रही होगी।
जेडीयू-बीजेपी में ठनी
बिहार सरकार ने जब नाइट कर्फ्यू का फैसला लिया था तब संजय जायसवाल ने इसपर हैरानी जताई थी। उन्होंने पूछा था कि आखिर रात में कर्फ्यू लगाने से कोरोना का प्रसार कैसे रुकेगा। उन्होंने वीकेंड कर्फ्यू का सुझाव दिया था। उनके इस बयान पर जेडीयू नेताओं ने पलटवार किया था। सबसे पहले उपेंद्र कुशवाहा ने उन्हें सलाह देते हुए कहा था कि ये राजनीतिक बयानबाजी का समय नहीं है। वहीं ललन सिंह ने कहा था कि लॉकडाउन की मांग करने वाले नेता सिर्फ पब्लिसिटी के लिए ऐसे बयान देते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here