बिहार में दिए जाएंगे सभी को रोजगार

0
135

बोले सीएम नीतीश कुमार
बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने बुधवार पत्रकारो से कहा, बिहार में जो है उन्हें रोजगार दिया जाएगा और जो बाहर से से आए है, उन्हें भी। देश का कोई नागरिक प्रवासी कैसे हो सकता है, देश से बाहर जाने पर उसे प्रवासी कहा जा सकता है, देश के अन्य राज्यो में जो भी श्रमिक काम करने गए है, वे सभी भारत का हिस्सा है, 6 लाख से ज्यादा लोग अभी क्वाॅरेंटाइन सेंटरो में है, राज्य सरकार एक व्यक्ति पर 5300 रुपए खर्च कर रही है, बिहार में कोरोना से किसी को भयभीत होने की जरुरत नही है, सिर्फ सर्तक रहने की आवश्यकता है, देश से कोरोना के मामले में बिहार बेहतर है, चेहरे को ढ़ककर रखना जरुरी है, 3 मई के बाद बिहार में लााखे मजदूर आए है, उसमें 3 हजार से ज्यादा कोरोना संक्रमित निकले है, बिहार में अभी कोरोना मरीजो के आंकड़े 4 हजार 49 है, कोरोना से 25 मौत हो चुकी है, सीएम ने कहा, वैसे तो देश से लाॅक डाउन खत्म कर दिए गए है, सिर्फ कनटेंमेंट जोन को लाक डाउन में रखा गया है, बिहार में तीन कोविड डेयर अस्पताल खोले गए है, कोविड सेंटर में दो हजार 244 वेड दिए गए है, राज्य में 200 से ज्यादा आपदा राहत केंद्र का संचालनए जा रहे है, कोरोना संकट में बिहार के पेंशनधारियों के खाते में तीन महीने का सीधे पैसा भेजा गया है, इसके लिए सरकार ने एक हजार सत्रह करोड़ आवंटित किए थे। सीएम ने कहा, कोरोना से लड़ाई लडने के लिए राज्य के मंत्रियों के वेतन में भी कटोती की गई, 20 हजार से ज्यादा लोगो के खाते में एक-एक हजार भेजे गए, सीएम ने कहा बिहार में जल-जीवन हरियाली कार्यक्रम शुभारंभ कर दिए गए है, इसमें भी लाखेे श्रमिक काम पे लगाए जाएंगे। सूबे के सभी डीएम को और आइसूलेशन वार्डो का विस्तार करने का आदेश दिए गए है, कोरोना से जो गंभीर बीमार है, अधिकारियों को उन्हें कोविड अस्पताल में रखने को कहा गया है, फिलहाल आइसूलेशन वार्ड में 13 हजार से ज्यादा वेड है, बिहार में कोरोना उन्नमूलन के लिए अलग से सेल गठित किए गए है, राशन कार्ड के सवाल पर सीएम ने कहा, बहुतो नए को राशन कार्ड मिल गए है, जो छूट गए है, अधिकारियों को उन्हें चिन्हित कर राशन कार्ड बनाने का आदेश दिए गए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here