मुजफ्फरपुर में शराब माफिया से डील करते पकड़े गए थानेदार

0
159

ब्रज किशोर एक थाने में है पोस्टेट
सरकार ने तो शराब तस्करो पर शिकंजा कसना शुरु कर दिया है, लेकिन शराब माफिया सुधर नही रहे है, सीतामढ़ी में शराब तस्करों से मुठभेड़ में एक दारोगा की मौत कुछ दिन पहले हुए, इस मौत से पुलिस महकमे को सबक लेनी चाहिए, लेकिन उनके बिगड़े और बढ़ गए है, मुजफ्फरपुर में शराब माफिया से डील कर स्पिरिट लदे ट्रक पार कर रहा एक दारोगा रंगे हाथों गिरफ्तार किए गए है। वह दारोगा करजा थाना के थानाध्यक्ष ब्रज किशोर यादव है, जो एंटी लिकर टास्क फोर्स ने कच्ची पक्की से देर रात गिरफ्तार किया। बड़े पुलिस अधिकारियों द्वारा दारोगा से नगर थाने में पूछताछ की जा रही है। एंटी लिकर टॉस्क फोर्स के अधिकारियों के अनुसार शुक्रवार की देर रात स्पिरिट लदा एक ट्रक पकड़ा गया था। दारोगा वहीं पर एक कारोबारी से ढाई लाख रुपये में डील कर रहे थे। टीम ने उन्हें तत्काल गिरफ्तार कर लिया। डीएसपी ने बताया कि दारोगा से पूछताछ जारी है। सारी बातें सामने आने के बाद कार्यवाही की जाएगी।

रंगे हाथ पकड़े थानाध्यक्ष ब्रज किशोर यादव पहले भी पकड़ा जा चुके है। तब वह सदर थाना क्षेत्र में तैनात था। वहां अवैध वसूली करते हुए उसका वीडियो वायरल हुआ था। पकड़े जाने के बाद उसे सस्पेंड कर दिया गया था। बहाल होने के बाद हाल में उसे करजा थानां में तैनात किया गया था। करजा थानेदार के छुट्टी पर होने के कारण वर्तमान में ब्रज किशोर यादव के पास ही थाने का प्रभार था। आरोप है कि शुक्रवार देर रात वह कच्ची पक्की में शराब माफिया से डील करने पहुंचा था। तभी टीम ने उसे गिरफ्तार कर लिया। उससे पूछताछ में एलटीएफ को कुछ अह्म सुराग मिले हैं जिनके आधार पर विभिन्न इलाकों में छापामारी चल रही है। अधिकारियों ने बताया कि टीम को गुप्त सूचना मिली थी कि कच्ची-पक्की में एक पेट्रोल पंप के पास दूसरे प्रदेश के नंबर का ट्रक खड़ा है। इस सूचना पर टीम ने छापेमारी की। टीम को देखते ही कई संदिग्ध वहां से फरार हो गए। एक संदिग्ध पकड़ लिया गया। पूछताछ में पता चला कि यह स्पिरिट पश्चिमी इलाके में सप्लाई किया जाना था जहां से अवैध शराब बनाने का धंधा चलता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here