बिहार में शराबबंदी कानून का विरोध मतलब जान गवाना

0
102

एक तरफ बिहार में नीतीश सरकार ने शराबबंदी कानून तो लागू कर दिया है, लेकिन बिहार में अभी भी चोरी छिपे शराब बिक रही है, अब तो नौबत यहाँ तक पहुंच गयी है कि विरोध करने पर आम लोगों को इसकी कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ती है. ताजा मामला जमुई से आया है, जहां शराब बेचने का विरोध करने पर एक व्यक्ति को अपनी जान गंवानी पड़ गई.

अवैध शराब की बिक्री करने वाले माफियाओं ने एक शख्स को पहले बंधक बनाया. उसकी बेरहमी से पिटाई करने के बाद धारदार हथियार से हत्या कर दी. शव को झाड़ी में फेंककर वे फरार हो गए. यह हैरान कर देने वाला मामला जमुई सदर थाना के डुंडो गांव का है. शव की पहचान गांव के ही रामचंद्र सिंह के बेटे संजीव कुमार सिंह के रूप में हुई. सूचना मिलते ही मृतक के घर में मातम छा गया. संजीव की बेटी चंदा कुमारी ने कहा, ‘गांव में कुछ लोग शराब का अवैध कारोबार करते हैं. उनके पिता ने इसका कई बार विरोध किया. इसी रंजिश में कारू पासवान और ब्रह्मदेव पासवान समेत कुछ लोगों ने गुरुवार रात नौ बजे घर से बुलाकर पिता को लेकर गए. काफी देर तक वह घर नहीं आए तो, परिवार वाले समझे कि वह गांव में कहीं सो गए होंगे. जब सुबह शौच के लिए ग्रामीण गए तो देखा कि वह झाड़ी में खून से लथपथ हैं. जब उन्हें उठाया गया तो उनके दोनों हाथ बंधे हुए थे और उनकी मौत हो चुकी थी.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here