बिहार में ब्‍लैक के बाद व्‍हाइट फंगस ने दी दस्‍तक

0
292

पुरे देश में कोरोना वायरस का कहर

चाईना ने जैविक हथियार छोड् पुरे दुनिया को तबाह कर दिया,  लेकिन वही दूसरी ओर चाईना के दो दोस्‍त देश कोरोना के कहर से बिल्‍कुल अलग है, कोरोना की दूसरी जो इंडिया में आयी है, वह पहले से ज्‍यादा ताकतवर है, जो सीधे सांस रोक देती है और आदमी चट में मौत के हवाले हो जाते है, वायरस की दूसरी लहर पूरे देश में कहर बरपाया हुआ है। संक्रमितों में अन्य बीमारियों के लक्षण भी नजर आ रहे हैं जिससे डॉक्टरों और मरीजों की परेशानियां बढ़ रही हैं। वायरस से उबर चुके कई मरीजों में ब्लैक फंगस की पुष्टि हुई है। बिहार में अब व्हाइट फंगस के मामले चिंता बढ़ा रहे हैं। पटना मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल (पीएमसीएच) में भर्ती कोरोना के चार मरीजों में व्हाइट फंगस की पुष्टि हुई है। पीएमसीएच के माइक्रोबायोलॉजी डिपार्टमेंट के अध्यक्ष डॉक्‍टर एसएन सिंह ने कोरोना मरीजों में व्‍हाइट फंगस मिलने की पुष्टि की है। यह फंगस मरीजों की स्किन को नुकसान पहुंचा रहा है। इसकी देरी से पहचान होने पर जान का भी खतरा रहता है। डॉ. एसएन सिंह ने कोविड और पोस्ट कोविड मरीजों में व्हाइट फंगस को गंभीरता से लेने की अपील की है।

बिहार में बुधवार को मिले थे ब्लैक फंगस के 34 नए मरीज
ब्लैक फंगस म्यूकरमाइकोसिस के कुल 34 नए मरीज बुधवार को पटना के बड़े सरकारी अस्पतालों में जांच कराने पहुंचे। इनमें से 24 लक्षण वाले मरीज एम्स की ओपीडी में जबकि नौ आईजीआईएमएस में और एक पीएमसीएच में पहुंचे। एम्स में पहुंचे 24 में से सात को इलाज के लिए भर्ती कर लिया गया। अन्य को दवा देकर जांच कराने की सलाह दी गई है। वहीं, आईजीआईएमएस में आए सभी नौ लोगों को ब्लैक फंगस यूनिट में भर्ती किया गया। पीएमसीएच में पहुंचे एकमात्र मरीज को एम्स में ऑपरेशन कराने की सलाह दी गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here