दुष्कर्म के आरोपी एमएलए हो गए भूमिगत

0
120

पुलिस ने दी कोर्ट में वारंट को अर्जी
एक विधायक ने मानवता को तार-तार कर दिया, बेटी के समान एक नबालिक के साथ दुष्कर्म किए गए, पटना और भोजपुर में हुए चर्चित देह व्यपार और दुष्कर्म कांड में आरजेडी विधायक अरुण यादव का नाम सामने आए है, पीड़ित नबालिक लड़की ने कोर्ट में दिए बयान में कही है कि उसके साथ विधायक आवास पर दुष्‍कर्म किए गए है, पुलिस ने उनके गिरफ्तारी वारंट के लिए कोर्ट में अर्जी दाखिल की है। इस बीच देर रात भोजपुर पुलिस विधायक के पटना स्थित आवास पर पहुंची, लेकिन वे नहीं मिले। गिरफ्तारी के डर से विधायक भूमिगत हो गए है। कहा जाता है कि पुलिस छापेमारी के बाद 18 जुलाई को पटना में लंबे समय से चल रहे देह व्‍यापार गिरोह के चंगुल से निकल कर भोजपुर पुलिस के पास पहुंची लड़की ने इस दुष्कर्म का खुलासा की, लड़की ने पुलिस को इंजीनियर और विधायक के आवास पर भेजे जाने की बात बतायी। लड़की के बयान के बाद धरायी संचालिका अनीता देवी ने बताया कि उन्हें एमएलए साहब इस धंधे के लिए रखे हुए है, पीड़िता का आरा कोर्ट में पहली बार बयान 20 जुलाई को दर्ज हुआ था। बीते छह सितंबर को पीडिता द्वारा आरा कोर्ट में दोबारा बयान दी गयी है, जिसमें पीडिता ने कई रहस्योउद्घाटन किए है, और कहा कि पटना स्थित विधायक के आवास पर उसके साथ गंदा काम किया गया। आरा महिला थाने के निरीक्षक और सचिवालय थाना के पुलिस अधिकारियों ने विधायक के पटना स्थित हार्डिंग रोड घर पहुंची तो वे नही मिले। डीएसपी राजेश कुमार ने बताया कि विधायक पकड़े जाने के भय से भूमिगत हो गए है। विधायक को सुरक्षा के लिए चार अंगरक्षक दिए गए है, जिसे भोजपुर एसपी सुशील कुमार ने लाईन हाजिर कर दिया है। वही दूसरी ओर एसपी के निर्देश पर पर वारंट के लिए केस के आईओ चंद्रशेखर गुप्ता कोर्ट पहुंचे और उन्‍होंने पीडिता के दोबारा दर्ज कराए गए बयान का हवाला देते हुए अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश (प्रथम) सह पॉक्सो कोर्ट के विशेष न्यायाधीश आरके सिंह की अदालत में अर्जी दी। पुलिस के अनुसार कोर्ट से वारंट निर्गत होने के बाद आगे की कानूनी कार्रवाई की जाएगी। फिलहाल विधायक भूमिगत हो गए हैं। वैसे पुलिस विधायक की तलाश शुरू कर दी है। और अभी तक कोई सुराग नहीं मिल सका है। इस कांड की जांच में एसआइटी ने एक मोबाइल फोन भी जब्त किया है। मामले की मॉनीटरिंग पटना पुलिस मुख्यालय में वरीय अधिकारी भी कर रहे हैं। इस प्रकरण में अब तक संचालिका अनीता, उसके दलाल संजीत और अभियंता अमरेश के अलावा सेक्स रैकेट के संचालक संजय यादव उर्फ जीजा को पुलिस जेल भेज चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here