दिवस पर भी नही लौटे बिहार के मजदूर

0
134

मजदूर दिवस पर आरजेडी का धरना
लाॅक में फंस गए बिहार के 10 लाख से ज्यादा मजदूर। झारखंड सरकार ने तो अपने श्रमिको को बाहर से लाने का एलान कर दिया, लेकिन नीतीश सरकार ने बाहर फंसे बिहार के मजदूरो को फिलहाल लाने से इंकार कर दिया है, विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने शुक्रवार को सुशासन सरकार के खिलाफ सूबे के सभी जिलो में धरना आयोजित करनेका एलान कर दिया है, एक तरफ राज्य के लोग कोरोना संक्रमण के खौफ से कांप रहे है तो दूसरी ओर कोरोना के नाम पर सियासत शुरु हो गए है, आरजेडी के वरिष्ठ नेता तेजस्वी यादव ने कहा, नीतीश सरकार गरीबो के भविष्य के साथ खेल रही है, एक मई मजदूरो के लिए दिवस है, लेकिन बिहार के बदनसीब मजदूर राज्य से बाहर है, सरकार कहती है कि संसाधन का अभाव है, मजदूरो को लाने के लिए बसे नही है, दो हजार बसे दे रहा हूं, सरकार को बाहर फंसे मजदूरो को लाने की इच्छा शक्ति होनी चाहिए, सरकार ने वादा करके वित रहित शिक्षको को भी अनुदान नही दिया, उनके परिवार के लोग भी कोरोना काल में संकट में फंस गए है, नियोजित शिक्षको का हश्र भी यही है, बिहार के भवन निर्माण मंत्री अशोक चैधरी ने तेजस्वी पर तंज कसते हुए कहा, राज्य सरकार कोरोना के खिलाफ युद्व लड़ रहा है और विपक्ष के लोग इसमें सरकार को सहयोग करने के बदले राजनीति कर रहे है, बाहर फंसे 5 लाख से अधिक मजदूरो को बसो से लाना संभव नही है, इसके लिए रेल सेवा बहाल करने के लिए केंद्र को लिखा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here