तो बिहार में धराए 49 विदेशी नागरिक

0
202

फिलहाल जमात के 18 गए जेल
मुबंई से मंगलवार को हजारों श्रमिक लापता हो गए है, उसमें कोरोना से कई संक्रमित बताए जारहे है, दिल्ली के आईबी ने इसके लिए केंद्र को सर्तक किया है, लापता हुए श्रमिको में ज्यादातर बिहार, उतर प्रदेश और दिल्ली के है, खुफिया संदेश मिलने के बाद बिहार के सीएम एक्शन में आ गए है, उनके निर्देश के आलोक में अभी तक 49 तब्लीगी जमात के लोग पकड़े गए है, सभी को क्वारंटीन में रखा गया है, पकड़े गए अधिकांश विदेशी नागरिक है, बुधवार को समस्तीपुर पुलिस ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए 9 बंगलादेशियों को हिरासत में लिया है, किसी के पास पासपोर्ट नही है, राज्य सरकार पहले खुफिया रिपोर्ट को हल्के में न लिया होता तो बिहार में कोरोना के 70 मरीज नही होते, बुधवार को भी बिहार के नालंदा और मुंगेर में कोरोना के चार नए मरीज सामने आए है, सूबे के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने भी सूबे के सभी एसपी को इस मामले में शर्तक रहने को कहा है, अररिया में तो 18 विदेशी नागरिक पकड़े गए है, जिसमें नौ तो बंगलादेश के है और नौ मलेशिया के है, सूचना है कि सीतामढ़ी में तो एक पाकिस्तानी नागरिक भी पकड़े गए है, जिससे पुलिस पूछताछ कर रही है, भारत में कोरोना फैलने से पूर्व जामातियों के जत्था मलेशिया गए थे, पटना में भी सत्रह विदेशी नागरिक पकड़े गए है, आरा में भी तीन पकड़े गए, वैसे डीजीपी के निर्देश पर पुलिस ऐसे लोगो की सधन तलाश में जुटी है, वैसे आईबी ने इसकी सूचना पूर्व में ही केंद्रीय गृह मंत्रालय को दे दी थी, और केंद्रीय गृह मंत्रालय देश के सभी राज्य सरकारों को अलर्ट भी कर दिया था, लेकिन कई राज्यों के सरकार ने इसे हल्के में ले लिया। आईबी ने दिए गए रिपोर्ट में संकेत दिए थे, कि भारत में 25 हजार से अधिक विदेशी आए है, जो धर्म स्थलो पे पनाह लिए हुआ है, और अन्य राज्यो में उतर प्रदेश और दिल्ली सरकारों ने रिपोर्ट के आलोक में कार्रवाई की तो कई धार्मिक स्थलो से पकड़े भी गए विदेशी लोग, लेकिन जहा कार्रवाई होने में देर हुई वहा धीरे-धीरे मौलाना के कोराना बम फूटने लगे, और बिहार के साथ-साथ झारखंड को भी आगोश में ले लिया। झारखंड में तो कोरोना मरीजो के आंकड़े रोज बढ़ रहे है, सत्रह से आंकड़े 23 पार कर गए, बिहार में तो कोरोना से एक मौत हुई है, लेकिन झारखंड में दो मरे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here