तो नही सुधरी विवि के परीक्षा विभाग का दशा

0
104

एडमिड कार्ड में निकले अंतर
कहने के लिए विवि के परीक्षा नियंत्रक ने परीक्षा में सुधार के लिए सेवा निवृत कर्मियो को ठेके पर तो रख लिया है, लेकिन परीक्षा विभाग की दशा सुधरने के बदले और खराब हो गई है, कई छात्रो की परीक्षा तो सेकेंट सिटिंग में तो रखी गई, लेकिन उसे बुला लिया गया फस्ट सिटिंग के परीक्षा में। परीक्षा नियंत्रक तो तर्क देते है कि कुछ काॅलेजो में ऐसा हो गया, लेकिन यहा सवाल उठता है कि परीक्षा विभाग में जब तेज तर्रार सेवा निवृत कर्मियो को रखा गया है तो इतनी भयानक चूक कैसे हो गई, विश्वविद्यालय सूत्रो की माने तो पार्ट 2 की परीक्षा खत्म तो हो गई, लेकिन अभी तक काॅपियो की जांच के लिए परीक्षक नियुक्त नही किए गए, वैसे पार्ट थ््राी की काॅपियों की जांच तो पूर्ण हो गई है, लेकिन अभी तक टेबलेटिंग नही कराए गए है, एक वार तो हद हो गया, पार्ट थ््राी के प्रैक्टिल कराए नही गए और सेटिंग के अधार पर अंक दे दिए है, इसलिए परीक्षा नियंत्रक ने माहिर सेवा निवृत एक कर्मी को इस काम में लगा रखा है, सूत्रो का कहना है कि एक्जामनर नियुक्त करने में भी काफी गोल माल होता है, यह काम भी एक सेवा निवृत कर्मी को दे दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here