पहले चरण का रण का खेल हुआ खत्म

0
216

किए गए थे सुरक्षा का कड़े इंतजाम
छिटपूट हिंसा के बीच पहले चरण का बिहार के चार लोकसभा क्षेत्रो का रण हुआ खत्म। सभी का भाग्य ईबीएम में बंद हो गए, भाग्य का पिटारा 23 मई को खुलेगा। सभी क्षेत्रो में 54 से 50 फिसद मतदान बिहार हुए, बिहार के दो नक्सल प्रभावित क्षेत्रो गया और औरंगावाद के कुल सात विधान सभा क्षेत्रो में शाम 4 बजे तक मतदान हुए, दोनो लोकसभा क्षेत्रो में सुरक्षा का कड़े इंतजाम किए थे,

निर्वाचन विभाग के अधिकारियों का दल मतदान केंद्रो पे दौरा करते देखे गए, नवादा लोकसभा क्षेत्र में रोह मतदान केंद्र के पास दो पक्षो के बीच जमकर रोड़ेबाजी हुई, रोड़ेबाजी में कई लोग घायल हो गए, रोड़ेबाजो ने वहा गश्त कर रहे दंडाधिकारी की गाड़ी को भी निशाने पे लिया, रोड़ेबाजी में गाड़ी क्षतिग्रस्त हो गए, नक्सली चुनाव से पहले गया को दहलाने के फिराक में था, लेकिन कामयाब नही हो सका, वहा के पुलिस अधिकारियों ने दो दिन पहले आईईडी बरामद किया था, पुलिस ने चुनाव के दिन भी तीन केन बम जब्त किए है,

नवादा मारपीट के बाद बदमाशो ने बूथ संख्या 215 पर हमला बोल इबीएम मशीन को क्षतिग्रस्त कर दिया, पुलिस अधिकारियों ने गया में उत्पाद मचाते 22 लोगो को हिरासत में लिया है, नवादा में एनडीए ने चंदन सिंह को तो महागठबंधन विभा देवी को चुनाव के मैदान में उतरा है, गया में एनडीए ने विजय मांझी को तो महागठब्ंधन ने पूर्व सीएम जीतन राम मांझी को चुनाव के मैदान में उतरा है, जमुई में एनडीए ने केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान के पुत्र चिराग पासवान को तो महागठबंधन ने भूदेव चैधरी को, औरंगावाद में एनडीए ने सुशील सिंह को तो महागठबंधन ने उपेन्द्र सिंह को चुनाव में उतरा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here