24 घंटे में नही पहुंची टीका तो बंद होगी टीकाकरण

0
35

फिलहाल उपलब्ध है 3 लाख टीका
स्वास्थ विभाग के अपर मुख्य सचिव प्रत्यय अमृत ने पत्रकारो से बात करते हुए कहा, केंद्र ने अभी तक बिहार को वैक्सीन नही दी है, अगर 24 घंटे के अंदर वैक्सीन बिहार नही पहुंची तो चल रहे टीकाकरण में बाधा उत्पन्न हो सकता है, उन्होंने कहा कि 18 से 45 उम्र तक के लोगों के लिए बिहार में अभी छह लाख 48 हजार 280 कोरोना टीका उपलब्ध है। राज्य सरकार टीका की खरीद कर रही है। उक्त उम्र के अबतक तीन लाख 178 लोगों को टीका लगाया जा चुका है। वहीं 45 वर्ष से ऊपर के लोगों के लिए अभी तीन लाख 85 हजार 710 टीका उपलब्ध है। वहीं दूसरी ओर अगले 24 घंटे में अगर कोरोना वैक्सीन का डोज पटना नहीं पहुंचा तो अस्पतालों और स्कूलों में चल रहे टीकाकरण में बाधा उत्पन्न हो सकती है। अब तक रजिस्ट्रेशन नहीं हो पाने के कारण पहला डोज लेने पहुंचे कई लोगों को सिर्फ इसलिए लौटाया जा रहा है कि उनकी स्लॉट बुकिंग नहीं है। इसके साथ ही कई ऐसे बुजुर्गों को भी लौटा दिया गया जिनको दूसरा डोज लेना था। लेकिन शुक्रवार से कई केंद्रों पर टीकाकरण रुक भी सकता है। यह कोविशील्ड और कोवैक्सीन के डोज की संख्या घटने के कारण हो सकता है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसपी विनायक ने बताया कि गुरुवार को सभी केंद्रों पर टीकाकरण सामान्य रूप से चल रहा है। सुबह में सभी केंद्रों को पर्याप्त संख्या में टीका उपलब्ध करा दिया गया है। लेकिन गुरुवार शाम तक टीका का डोज नहीं पहुंचा तो शुक्रवार से मुश्किल बढ़ सकती हैमुजपफरपुर के अधिकांश टीका केंद्र पर कुव्यवस्था
मुजपफरपुर के अधिकांश टीका केंद्र असुरक्षा के घेरे में चल रहा है, मुजपफरपुर के दो टीका केंद्र जुब्बा सहनी आॅडिेटोरियम और चतर्भूज स्थान केंद्र में तो कोविट नियमो की धज्जिया उड़ रही है, मेडिकल इंतजामो की बदइतंजामी के कारण जगह होते हुए भी स्स्टिम फेल है, आॅडिटोरियम में तो हद हो रहा है, एक तो समय पर केंद्र खुलता नही और भीड़ काफी हो रहा है, मेडिकल स्टाफ समय पर आते नही, एक नर्स है भी तो वह भी सिस्टम से काम करने के बदले वेसिस्टम हो जाती है, जिला प्रशासन ने उक्त दोनो केंद्र पर सुरक्षा का कोई इंतजाम नही किया है, कहने के लिए नगर निगम के कुछ कर्मी वहा तैनात तो किए गए है, लकिन नर्स के सामने उनका एक नही चलता। स्स्टिम से अगर आए लोगो के अधार कार्ड ले लिए जाए और सभी को बाहर खड़ा कर दिया जाए तो कई लोग सुरक्षित हो जाएंगे, भीड़ अंदर होने पर कोरोना फैलने की ज्यादा खतरा है, क्योंकि सभी वहा अंदर कंम्प्यूर के पास खड़े हो जाते है, और आपस में ही उलझ जाते है, आरजेडी के वरिष्ठ नेता सह वरीय अधिवक्ता रजनीकांत यादव, बिजेपी के वरिष्ठ नेता सह अधिवक्ता राहुल कुमार ने डीएम से उक्त दोनो केंद्र की सुरक्षा व्यवस्था पर गौर फरमाने की मांग की है, अन्यथा कई लोग टीका लेने के बदले माहमारी लेकर घर लौटेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here