सड़को पे उतरे भूखे वित रहित कर्मी

0
70

सरकार कर रही विचार:मंत्री
राज्य के शिक्षा मंत्री सदन में मार्च के अंत तक वित रहित डिग्री काॅलेजो को अनुदान देने की घोषाण तो कर दिए, लेकिन इस कोरोना के संकट में भी काॅलेजो को अनुदान नही दिया, कोरोना संकट में कई प्लस टू के शिक्षको ने इंटर काॅपी की मूल्यांकन करने से इंकार कर दिया, उसमें भी वित रहितो ने सरकार की मदद की, लेकिन सरकार इन शिक्षको को ही कोरोना काल में भूखे छोड़ दिए, वित रति डिग्री काॅलेजो के सैकड़ो शिक्षक सरकार के इस रवैये के खिलाफ सड़को पर उतरने का एलान करते हुए पहले मुजपफरपुर के सांसद अजय निषाद का घेराव किए, शिक्षको को वहा आश्वासन तो दिए गए, लेकिन कुछ हुआ नही, शिक्षक फिर मंत्री सुरेश शर्मा का घेराव किए, मंत्री ने भी उनकी मांगो को जायज माना, यह सवाल उठता है कि मांगे जायज है तो दो महीने से चल रहे कोरोना संकट में इन शिक्षको को यूं ही क्यो छोड़ दिया गया। प्रो0 शशांक शेखर, डा0 उमेश कुमार श्रीवास्तव, प्रो0 संत ज्ञानेश्वर तथा प्रो0 प्रकाश कुमार ने संयुक्त रुप से कहा, एमएलसी भी वित रहितो चुनाव के वख्त याद करते है, चुकरी-चुकरी बाते कर वोट तो हथिया लेते है, और ऐसे समय भूख से तरप रहे वित रहित कर्मियो का उन्हें याद नही आता है। शिक्षको ने कहा, सरकार के वादा खिलाफी के बिरुद्व शिक्षक सड़को पर उतर गए है। सभी मंत्रियो और विधायको का धेराव किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here