सीतामढ़ी में एक परिवार के तीन लोग निकले पाॅजेटिव

0
26

डीएम ने की पुरे मुहल्ले को सील
मुजपफरपुर से सटे सीतामढ़ी के जानकी स्थान वार्ड संख्या छह के कबारी मोहल्ला में एक ही परिवार के तीन लोग कोरोना पॉजिटिव हो गये। इसके बाद स्वास्थ्य महकमा में अफरातफरी मच गयी। आनन-फानन में सीएस के साथ मेडिकल टीम पीड़ित परिवार के घर पर पहुंचकर जांच की। मेडिकल टीम ने सभी के जांच के बाद उन्हें दवा व परामर्श देकर होम आइसोलेशन में डाल दिया। सीतामढ़ी मुजपफरपुर के करीब है, और बाहर से आने वाले ज्यादातर लोग मुजपफरपुर उतरते है, कोरोना के बढ़ते खौफ को देखते हुए दोनो जिले के प्रशासन को अलर्ट होना पड़ेगा। क्योंकि होली त्योहार करीब है। परिजनों ने बताया कि पीड़ित व्यक्ति एक सप्ताह पूर्व मोहल्ला में अपने पड़ोसी के अंतिम संस्कार में गया था। वहां से आने के बाद सर्दी बुखार व जुकाम हुआ। दो दिनों तक नहीं छूटने पर निजी चिकित्सक के यहां परामर्श लिया। चिकित्सक ने कोरोना जांच का परामर्श दिया। जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आयी। इसके बाद पूरे परिवार की कोरोना जांच करायी गई। उस परिवार में पीड़ित की मां एवं पत्नी भी कोरोना पॉजिटिव मिलीं।
प्रशासन ने मोहल्ले और गली को किया सील
जिला प्रशासन ने कोरोना पॉजिटिव मिले व्यक्ति की गली को बांस-बल्ला लगाकर कर सील कर दिया। मोहल्ले में बाहरी लोगों के प्रवेश पर रोक लगा दी है। प्रशासन ने पोस्टर पर स्पष्ट लिख दिया है कि कोरोना वायरस का संक्रमित क्षेत्र है। सिविल सर्जन डॉ.आरसीएस वर्मा ने जिले के लोगो से अपील की है कि पहले की तरह ही सतर्कता बरतें। वरना मामला बढ़ने पर सबको परेशानी होगी। उन्होंने वैक्सीन के साथ सभी नियमों का पालन करने का अपील की है।
होम आइसोलेशन में रहने का दिया गया परामर्श
रविवार को सिविल सर्जन डॉ.राकेश चन्द्र सहाय वर्मा ने कोरोना पॉजिटिव मरीज के घर जाकर जायजा लिया। सीएस ने दवा देकर समुचित परामर्श दिया। सबको होम आइसोलेट में रहने की बात कही। सीएस ने कहा कि परिवार में तीन लोग पॉजिटिव हैं। तीनों कोरोना पॉजिटिव मरीज को लेने आये थे। लेकिन सभी स्वस्थ्य हैं। एडमिट होने की जरूरत नहीं है। वैसे दवा देकर इलाज शुरू कर दिया गया है। दवा को डोज बता दिया गया है। साथ ही इमरजेंसी सेवा को लेकर मोबाइल नं. दिया गया है। सबों को ऐतिआत बरतने का नसीहत दिया गया है।
कोविड-19 वैक्सीन लेने की अपील
सीएस ने कहा कि जिले में कोविड-19 का वैक्सीनेशन चल रहा है। फ्रंटलाइन वर्कर, 60 वर्ष से अधिक उम्र वाले व 45 साल से लेकर 59 साल तक के मरीज व समान्य लोग निश्चित रूप से वैक्सीन ले लें। उन्होंने कहा कि कोविड वैक्सीन का सेकेंड डोज लेने के 15 दिन बाद संबंधित आदमी की कोरोना संक्रमण से सुरक्षा हो सकती है।
मास्क और सोशल डेस्टिेंटिंग एक मात्र सुरक्षा कवज
बोले वरीय अधिवक्ता रजनीकांत यादव
आरजेडी के वरिष्ठ नेता सह अधिवक्ता रजनीकांत यादव ने कहा, बिहार में फिर कोरोना पांव पसारना शुरु कर दिया है, वैक्सीन लेने के बाद भी एक सेविका की मौत हो गई, देश से अभी कोरोना खत्म नही हुआ है, इसलिए लोगो को कोरोना से बचने के लिए माॅस्क और दो गज की दूरियो का पालन करना होगा। बिहार में रोज कोरोना के नए मरीज मिल रहे है और सरकार ने स्कूल/ काॅलेजो को खोल दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here