सरकार के नए फैसले से साढै तीन लाख शिक्षको को लाभ

0
107

शिक्षको की बढेगी चार हजार वेतन

राज्य सरकार द्वारा मूल वेतन में 15 प्रतिशत राशि की वृद्धि से जिन साढ़े तीन लाख शिक्षकों को लाभ मिलेगा उन शिक्षकों का वेतन में औसतन चार हजार रुपये की बढ़ोतरी हो जाएगी। शिक्षा विभाग के स्तर से बढ़े हुए वेतन की राशि के साथ शिक्षकों को जनवरी में भुगतान की तैयारी हो रही है। शिक्षा विभाग के वित्त मामलों के एक अधिकारी ने बताया कि पे मैट्रिक्स में वेतन निर्धारण में यदि किसी शिक्षक और पुस्तकालयाध्यक्ष का मूल वेतन अपने से कनीय शिक्षक एवं पुस्तकालयाध्यक्ष से कम निर्धारित हो, तो उनका मूल वेतन कनीय शिक्षक के मूल वेतन के अनुरूप निर्धारित किया जाना है। वेतन निर्धारण के लिए आनलाइन कैलकुलेटर तैयार किया जा रहा है। लेकिन, मूल वेतन में 15 प्रतिशत की वृद्धि से भत्तों के साथ शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों का वेतन औतन चार हजार रुपये प्रतिमाह बढ़ जाएगी।  उन्होंने बताया कि वित्त विभाग के परामर्श के बाद एक अप्रैल, 2021 से बढ़े वेतन के भुगतान के लिए शिक्षा विभाग ने शुक्रवार को आदेश जारी किया है। इसके लिए पे-मैट्रिक्स भी जारी हुई है। पे मैट्रिक्स में पूर्व से प्राप्त मूल वेतन में 1.15 से गुणा कर जो राशि आयेगी, उसे पे मैट्रिक्स के सापेक्ष अथवा ठीक उपर के लेबल के अनुसार निर्धारित करते हुए एक अप्रैल, 2021 से वित्तीय लाभ अनुमान्य किया जाना है। भत्तों का भुगतान पूर्व की भांति ही होना है। जिन शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों के मूल वेतन का निर्धारण होना है, उन्हें वार्षिक वेतनवृद्धि का लाभ एक जनवरी, 2022 से देय होगा। यहां बता दें कि पंचायतीराज एवं नगर निकाय शिक्षकों एवं पुस्तकालयाध्यक्षों को एक अप्रैल-2021 से मूल वेतन में 15 प्रतिशत की वृद्धि का फैसला कैबिनेट ने 18 अगस्त, 2020 को ही लिया था। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here