विविः 21 दिनो में रिजल्ट देने का दावा हवा में

0
48

नही निकले पार्ट थ्री का का परिणाम
बीआरए बिहार विश्वविद्यालय के परीक्षा विभाग के अधिकारियों ने राजभवन को भी चकमा देने में सफल हो गए, परीक्षा विभाग के अधिकारियों ने होने और आने वाली परीक्षाओ का परिणाम 21 दिनो में घोषित कर देने का दावा तो कर दिया, लेकिन पार्ट 3 का परीक्षा हुए तीन महीने से ज्यादा हो गए, अभी तक परिणाम घोषित नही किए गए, परीक्षा विभाग के अधिकारियों ने इस दावे की रिपोर्ट राजभवन को भी दी थी, जिसमें पार्ट वन और टू की परीक्षाओ का भी जिक्र किया गया है, छात्र नेता अमित कुमार ने बताया कि पार्ट थ््राी के परीणाम अभी तक नही निकाले गए है, कांपियों की जांच अभी तक पूर्ण नही हुए है, विभाग के अधिकारियों ने कुछ ऐसे कर्मियो को इन कामो का दायित्व दे रखा है, जो सेवा निवृत हो चुके है, और ऐसे कर्मियो का काम सिर्फ उगाही करना रह गया है, छात्र नेता राजीव रंजन कहते है परीक्षा विभाग की बदहाली का आलम यह है कि पीजी फस्र्ट सेमेस्टर की परीक्षाओ का परिणाम हजारो छात्र कर रहे है, यह परीक्षा फरवरी में हुई, 12 महीने बाद भी परिणाम घोषित नही किए गए, भाजपा के वरिष्ठ नेता सह अधिवक्ता राहुल कुमार ने बताया कि कुछ विश्वद्यिालय के अधिकारी सरकार को बदनाम करने की नियत से काम कर रहे है, राजभवन ने विश्वविद्यालय अधिकारियों से इस साल की लंबित परीक्षाओ और परिणाम की रिपोर्ट मांगी थी, इसके बाद विवि के अधिकारियों की ओर से जो रिपोर्ट भेजी गयी, उसके अनुसार, पार्ट 2 की परीक्षा 15 फरवरी से शुरु होना था, और परिणाम 21 फरवरी को देने की बात कही गयी है, लेकिन अभी तक काॅपियो की जांच शुरु नही करवायी गई है, विश्वविद्यालय के कुलसचिव की माने तो परीक्षा विभाग के लेंबित कामो के लिए परीक्षा नियंत्रक ने सेवा निवृत कर्मियो की सेवा ली है, लेकिन उनके इस दावे का सच रीक्षा परिणाम नही अभी तक घोषित नही होना काफी है। परीक्षा नियंत्रक ने पार्ट 2 परीक्षा संपन्न हो जाने के बाद भी अभी तक प्रैक्टिल परीक्षा के लिए समय निर्धारित नही किया है, कई वार परीक्षा नियंत्रक ने इस मामले में परीक्षा बोर्ड की बैठक में फैसला लिए जाने का एलान तो किए लेकिन अभी तक बोर्ड की बैठक आयोजित नही किए गए। बीआईपी पार्टी के वरीय नेता सह अधिवक्ता दिनेश राउत कहते है कि विश्वविद्यालय के एकेडमिक कैलेंडर भी राज्य के अन्य विश्वविद्यालय से काफी पीछे है, 12 परीक्षाएं लंबित है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here