राजद सुप्रीमो लालू यादव जल्द पहुंचेंगे पटना

0
176

बोले आरजेडी नेता तेजस्वी यादव काफी इंतजार के बाद बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव  बुधवार को पटना पहुंच गए है, यहां आते ही उन्‍होंने सांसद चिराग पासवान को अपने साथ आने का न्‍योता दे डाला। कहा कि अब चिराग भाई को तय करना है कि बंच ऑफ थॉट्स के पुर्जे के साथ रहेंगे या बाबा साहेब ने जो संविधान लिखा उसका साथ देंगे।  इस दौरान उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार पर भी जमकर निशाना साधा। इस क्रम में उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि लालू जी जल्‍द पटना आ सकते हैं। लोजपा में टूट का मास्‍टरमाइंड कौन, सबको है पता, मीडिया से मुखातिब होते हुए तेजस्‍वी ने कहा कि यह सबको पता है कि लोजपा में टूट का मास्‍टरमाइंड  कौन है। ऐसे में चिराग पासवान को खुद दिशा तय करनी है। तेजस्‍वी ने कहा कि लोजपा को 2005 और 10 में भी सीएम ने तोड़ने का प्रयास किया। जब 2010 में लोजपा का एक भी एमएलए-एमपी नहीं था तब लालू जी ने रामविलास पासवान को राज्‍यसभा सांसद बनाया था। यदि जोड़तोड़ करने वाले बिहार के विकास के लिए इतना सोचें तो बहुत कुछ हो जाएगा। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री के इस बयान पर कि उन्‍हें लोजपा में टूट की जानकारी नहीं है, कहा कि उन्‍हें तो कुछ पता ही नहीं रहता है। उन्‍हें क ख, ग, घ का पता नहीं होता। उन्‍हें यह भी पता नहीं कि बिहार में कोरोना और बाढ़ से जनता त्राहिमाम कर रही है। महंगाई चरम सीमा पर है। बिहार बेरोजगारी का केंद्र बना हुआ है। पुल बनकर टूट रहा है। आगे न जाने क्‍या होगा। मैं नेता के साथ बेटा भी हूं इतने दिनों बाद पटना आने के सवाल पर तेजस्‍वी ने कहा कि सत्‍ता पक्ष को यह भी पता होना चाहिए कि वे नेता के साथ बेटा भी हैं। उनकी जिम्‍मेदारी अपने पिता के प्रति भी है। वर्तमान में लालू जी की तबीयत पर ध्‍यान रखने की जरूरत है। कोविड का दौर भी था। वे डॉक्‍टर की निगरानी में हैं। जल्‍द उनका पटना आना हो सकता है। वही दूसरी ओर आरजेडी के विरष्ठ नेता सह वरीय वकील रजनीकांत यादव कहते है, चिराग को  सीएम के खिलाफ विधानसभा चुनाव में मैदान में उम्मीदवार उतारना महंगा पड गया,  उनके चाचा को जेडीयू ने तोड लिया,  हालांकि नीतीश कुमार की यह चाल ज्यादा दिनो तक नही चलेगी,  उनकी सरकार का अंत होना तय है,  एनडीए के कई विधायक आरजेडी के संपर्क में है,  लालू जी के पटना के बाद औकात में आ जाएगा एनडीए ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here