भ्रष्टाचारी पर छापेमारी से ललन क्यों घबरा गए

0
111

बोले पूर्व डिप्‍टी सीएम सुशील मोदी  

 पटना । बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री व राज्यसभा सदस्य सुशील मोदी ने कहा कि बिल्डर गब्बू सिंह के ठिकानों आयकर विभाग के छापों के साथ उसे राजनीतिक संरक्षण देने वाले आकाओं की भी जांच होनी चाहिए। मोदी ने कहा कि एक भ्रष्ट बिल्डर और ठेकेदार के यहां छापा पड़ने से जदयू अध्यक्ष ललन सिंह क्यों तिलमिलाए हुए हैं? उन्होंने कहा कि ललन सिंह जदयू नेतृत्व वाली सरकार को राजद के समर्थन के चलते यदि लालू परिवार के भ्रष्टाचार का बचाव करें, तब तो समझा जा सकता है, लेकिन बिल्डर पर छापा पड़ने से किसी और को दर्द क्यों हो रहा है? मोदी ने कहा कि वह कौन सीनियर आइएएस अफसर है, जिसे विकास आयुक्त बना कर पदोन्नति देने के बाद जल संसाधन विभाग का अतिरिक्त प्रभार दिया गया, ताकि ऊंची राजनीतिक पहुंच वाले ठेकेदार गब्बू सिंह को लाभ पहुंचाया जाता रहे। उन्होंने कहा कि आयकर विभाग को उन अफसरों के बारे में खुलासा करना चाहिए, जिनका अरबों रुपये का कालाधन गब्बू सिंह के जरिए निर्माण क्षेत्र में खपाया जा रहा था।

परोक्ष रूप से करोड़ों रुपये का लाभ पहुंचाया

सुशील मोदी ने कहा कि पटना के जिस बड़े रेस्तंरा मेनलैंड चायना के उद्घाटन के समय जदयू के दो बड़े नेता पुरानी कटुता भुला कर फिर मिल गए थे, उस रेस्तरां से गब्बू सिंह का क्या संबंध है? आयकर विभाग को इसकी भी जांच करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग ने किस मंत्री के कार्यकाल में गब्बू सिंह को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से करोड़ों रुपये का लाभ पहुंचाया, इसकी भी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि जल संसाधन विभाग ने किस मंत्री के कार्यकाल में गब्बू सिंह को प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से करोड़ों रुपये का लाभ पहुंचाया, इसकी भी जांच होनी चाहिए। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here