बिहार में शिफ्ट हुए झारखंड के जामताड़ा मॉडल ऑफ साइबर क्राइम

0
134

फिर पकड़े गए सात शातिर

झारखंड के जामताड़ा पुरी दुनिया में साइबर ठगी का मॉडल के लिए चर्चित है. यहां के साइबर ठग जंगलों-बगीचों में पेड़ पर बैठकर लाखों-करोड़ों की ठगी कर लेते हैं. लेकिन, अब जामताड़ा के ये शातिर ठग बिहार में भी एंट्री दे चुके हैं. अब बिहार के नवादा जिले में जामताड़ा के साइबर क्राइम का मॉडल खूब फल-फूल रहा है. तभी तो नवादा पुलिस ने एक बार फिर से साइबर अपराधियों को पकड़ने में सफलता हासिल की है. इस बार वारिसलीगंज पुलिस ने साइबर अपराधियों के खिलाफ फिर बड़ी कार्रवाई कराते हुए 7 शातिरों को पकड़ा है. दरअसल गुप्त सूचना के आधार पर पुलिस ने थाना क्षेत्र के झौर सिमरीडीह चोरा बगीचा से सात साइबर अपराधियों को नाटकीय अंदाज में गिरफ्तार किया है. सभी बगीचे में एक साथ साइबर साइबर ठगी कर रहे थे. पुलिस ने मौके से इनके पास से सात मोबाइल फोन, कई राज्यों के अलग अलग मोबाइल नंबर का रजिस्टर बरामद किया है. पुलिस की पुछताछ के दौरान इन अपराधियों ने कई राज खोले हैं. हालांकि पुलिस ने जांच प्रभावित न हो इस वजह से इससे संबंधित कोई जानकारी साझा नहीं की है. इन लोगों के पास से सात कीमती मोबाईल व कई कागजात बरामद हुआ है. जब्त मोबाईल में ठगी के ठोस सबूत मिले हैं. कार्रवाई के पूर्व पुलिस के आने की भनक लगते ही वहां मौजूद कई और साइबर अपराधी अंधेरे का लाभ उठाकर भागने में सफल रहे.

नवादा में बढ़ रहा साइबर क्राइम 

स्थानीय थाना की पुलिस द्वारा की गई इस छापेमारी में एक साथ सात साइबर अपराधी की गिरफ्तारी से अन्य साइबर अपराधियों में भय का माहौल व्याप्त है. लगातार हो रही कार्रवाई के बाद भी इन इलाकों में साइबर अपराध कमने का नाम नही ले रहा है. इसके अलावा साइबर अपराध के ही मामले में नवादा कई राज्यों की पुलिस समय समय पर इन अपराधियों को गिरफ्तार कर अपने साथ ले भी जाती  है.मगर इनके गैंग को पुलिस पूरी तरह से ध्वस्त करने में असफल रही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here