बिहार में अब आसान नहीं होगा जमीन खरीदना

0
330

लैंड की कीमत अन्‍य राज्‍यो से अधिक  

बिहार में प्रत्‍यक साल भू-निबंधन की दरे बढती है, अप्रैल में फिर भूनिबंधन की दरे बढेगी, अब बिहार में जमीन खरीदना आसान नहीं होगा, राज्‍य में नौकरी और रोजगार के अवसर भले कम हों, प्रति व्‍यक्ति आय भले कम हो, लेकिन जमीन की कीमत दूसरे तमाम राज्‍यों की अपेक्षा अधिक है। इसमें भी बड़ी दिक्‍कत है महंगा निबंधन शुल्‍क और स्‍टांप शुल्‍क। लेकिन, सरकार ने राज्‍य में जमीन की लागत कम करने के लिए एक बड़ा फैसला लिया है। सरकार ने खास प्रयोजन के लिए जमीन खरीदने पर निबंधन और स्‍टांप शुल्‍क पूरी तरह माफ करने का फैसला किया है। उद्योगों के लिए सस्ती जमीन उपलब्ध कराने की दिशा में राज्य सरकार ने बड़ा कदम उठाया है। अब औद्योगिक जमीन के लिए निबंधन व स्टांप शुल्क पूरी तरह माफ कर दिया गया है। औद्योगिक क्षेत्र या उससे बाहर उद्योगों की स्थापना के प्रयोजन से लीज, बिक्री या ट्रांसफर की गई जमीन पर निबंधन व स्टांप शुल्क में सौ प्रतिशत छूट देने का निर्णय लिया है। मद्य निषेध एवं निबंधन विभाग ने इससे जुड़ी अधिसूचना भी जारी कर दी है। सरकार के इस कदम से उद्योगों के लिए जमीन की लागत में कमी आएगी। विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के हस्ताक्षर से जारी आदेश के अनुसार, बियाडा को सरकार द्वारा आवंटित भूमि के निबंधन पर अब स्टांप व निबंधन शुल्क नहीं देना होगा। इसी तरह औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार के अंदर या बाहर की ऐसी कोई भी जमीन जिसका इस्तेमाल निजी निवेशकों के द्वारा उद्योग स्थापित करने के लिए होगा, उसके दस्तावेजों के निबंधन पर स्टांप शुल्क माफ कर दिया गया है। विभाग के अपर मुख्य सचिव केके पाठक के हस्ताक्षर से जारी आदेश के अनुसार, बियाडा को सरकार द्वारा आवंटित भूमि के निबंधन पर अब स्टांप व निबंधन शुल्क नहीं देना होगा। इसी तरह औद्योगिक क्षेत्र विकास प्राधिकार के अंदर या बाहर की ऐसी कोई भी जमीन जिसका इस्तेमाल निजी निवेशकों के द्वारा उद्योग स्थापित करने के लिए होगा, उसके दस्तावेजों के निबंधन पर स्टांप शुल्क माफ कर दिया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here