बदले गए जांच कर रहे चारा घोटाले की दो सीबीआई अफसर

0
140

बढेगी राजद सुप्रीमो लालू यादव की मुसीबत  

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री व राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव की चारा घोटाले के मामले में जमानत पर जेल से बाहर हैं। लालू अभी अपने बेटी राज्यसभा सदस्य मीसा भारती के दिल्ली स्थित  सरकारी आवास पर हैं। विपक्ष पर लगातार हमलावर लालू की परेशानी बढ़ सकती है। चारा घोटाले मामले की लंबे समय से जांच कर रहे दो सीबीआइ अधिकारियों को तबादल कर दिया गया है। अभी लालू यादव जमानत पर हैं, ऐसे में नए सीबीआइ के नए अफसर जब जांच का जिम्मा संभालेंगे तो उनकी मुसीबतें बढ़ सकती हैं। बताया जाता है कि बिहार के चर्चित चारा घोटाले के मामले की जांच कर रहे बीके सिंह और दशरथ मुर्मू को ट्रांसफर कर दिया गया है। इन्हें पटना और कोलकाता भेजा गया है। दोनों चारा घोटाले पर हो रही जांच की मानिटरिंग कर रहे थे सुनवाई में बाधा उतपन्न न हो इसके लिए कोर्ट ने इन अफसरों के तबादले पर रोक भी लगा रखी थी। दोनों अधिकारी काफी लंबे समय से मामले की जांच कर रहे थे। डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव सहित 110 आरोपित हैं। इन पर मामला चल रहा है। पूरा चारा घोटाला 139.35 करोड़ रुपये का है। राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद अभी जमानत पर जेल से बाहर हैं। इसी मामले में लालू लंबे समय तक जेल में भी रह चुके हैं। रांची की बिरसा मुंडा जेल में वे रह चुके हैं। स्वास्थ्य कारणों का हवाला देते हुए अभी वे दिल्ली में बेटी मीसा भारतीय के आवास पर रह रहे हैं। लालू यादव जमानत पर जेल से बाहर आने के बाद काफी एक्टिव हो गए हैं। राजद सुप्रीमो की नजर साल 2022 में होने वाले उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव पर भी है। हाल ही में इसको लेकर उन्होंने समाज वादी पार्टी (सपा) नेता मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव से मुलाकात की थी। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here