फिर गरमा गई जाति आधारित जनगणना का सवाल

0
183

बोले विपक्ष के नेता तेजस्‍वी केंद्र नीयत में खोट

 बिहार में फिर गरमा गई है जातिगत आधारित जनगणना का सवाल, विपक्ष के नेता सह आरजेडी के वरिष्‍ठ नेता तेजस्‍वी यादव ने टिवट कर जमकार केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा बीजेपी 65 फिसद से अधिक उपेक्षित बदहाल बर्गो को जातिय जनगणना से दूर करना चाह रही है, केंद्र सरकार  केवल एससी-एसटी की जनगणना करना चाहती है, जिसे विपक्ष मानने को तैयार नही है, केंद्र के इस नीति के खिलाफ विपक्षी दल एक मत है, वही आरजेडी के वरिष्‍ठ नेता सह वरीय अधिवक्‍ता रजनीकांत यादव ने कहा, केंद्र की नीयत में शुरू से खोट है, कभी देश को जनसंख्‍या के सवाल पर तोडना चाहती है तो कभी जातिगत आरक्षण के नाम पर हिन्‍दुओ को लडना चाहती है, बीजेपी सरकार पिछडे हिन्‍दुओ को देश की नागरिक मानती तो उन्‍हें जातिगत जनगणना से दूर नही करतीा  

जातीय जनगणना के लिए लड़ते रहेंगे 

तेजस्‍वी ने कहा है कि जातीय जनगणना के लिए हमारे दल ने लंबी लड़ाई लड़ी है और लड़ते रहेंगे। यह देश के बहुसंख्यक यानि लगभग 65 फीसद से अधिक वंचित, उपेक्षित, उपहासित, प्रताड़ित वर्गों के वर्तमान और भविष्य से जुड़ा मुद्दा है। बीजेपी सरकार पिछड़े वर्गों के हिंदुओं को क्यों नहीं गिनना चाहती? क्या वो हिंदू नहीं है? एक अन्‍य ट्वीट में उन्‍होनें लिखा है कि बिहार के दोनों सदनों में बीजेपी जातीय जनगणना का समर्थन करती है लेकिन संसद में बिहार के ही कठपुतली मात्र पिछड़े वर्ग के राज्यमंत्री से जातीय जनगणना नहीं कराने का एलान कराती है। केंद्र सरकार ओबीसी की जनगणना क्यों नहीं कराना चाहती?

भाजपा पर लगाया पिछड़े-अति पिछड़े से नफरत का आरोप 

BJP को पिछड़े/अतिपिछड़े वर्गों से इतनी नफ़रत क्यों है? जब तक पिछड़े वर्गों की वास्तविक संख्या ज्ञात नहीं होगी तो उनके कल्यानार्थ योजनाएं कैसे बनेगी?उनकी शैक्षणिक, सामाजिक, राजनीतिक और आर्थिक बेहतरी कैसे होगी? उनकी संख्या के अनुपात में बजट कैसे आवंटित होगा?  वो कौन लोग है जो नहीं चाहते कि देश के संसाधनों में से सबको बराबर का हिस्सा मिले? कुत्ता-बिल्ली,हाथी-घोड़ा,शेर-सियार, साइकिल-स्कूटर सबकी गिनती होती है। कौन किस धर्म का है, उस धर्म की संख्या कितनी है इसकी गिनती होती है लेकिन उस धर्म में निहित वंचित,उपेक्षित और पिछड़े समूहों की संख्या गिनने में क्या परेशानी है? उनकी जनगणना के लिए फार्म में महज एक कॉलम जोड़ना है। गौरतलब है कि केंद्रीय गृह राज्‍य मंत्री नित्‍यानंद राय ने कहा है कि इस बार की जनगणना में केवल एससी/एसटीवर्ग के लोगों की गिनती कराने के पक्ष में सरकार है। इसको लेकर एनडीए के घटक दल जदयू भी लंबे समय से मांग करता रहा है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here