नीतीश के पास 20 लाख नौकरियों के लिए कोई रोडमैप नहीं

0
179

सदन में बोले विपक्ष के नेता तेजस्वी
बिहार के सदन में विपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि नीतीश सरकार के पास युवाओं को 20 लाख रोजगार देने का ना कोई रोडमैप है, ना ही कोई विजन। बजट में आईट, फूड प्रोसेसिंग का उल्लेख तक नहीं किया गया। कहा कि हवा हवाई पेपरबाजी और जुमलेबाजी पर चल रही सरकार। बस सब्जबाग दिखाना जानती है। उसे अमलीजामा पहनाने की ना उनके पास योग्यता है और ना ही इच्छाशक्ति।
कानून व्यवस्था पर घेरा
सदन में बोलते हुए उन्होंने सीतामढ़ी में शराब तस्करों द्वारा एक सब इंस्पेक्टर की हत्या की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि बिहार में कानून-व्यवस्था पूरी तरह से भगवान के भरोसे है, यही कारण है कि दारोगा हो या कोई और पुलिसकर्मी उसे सरेआम गोली मार दी जाती है। और अपराधियों पर लगाम कसने के बदले सिर्फ हवा में तीर चला रही है, उन्होंने कहा कि यहां समीक्षा बैठक नहीं होती बल्कि भिक्षा बैठक होती है। जो भी अधिकारी आरसीपी टैक्स देते हैं उन्हीं की ट्रांसफर और पोस्टिंग होती है। लगे हाथों तेजस्वी ने नीतीश कुमार को चिट मिनिस्टर करार दिया और कहा कि नेता तो नीतीश कुमार कभी हुए ही नहीं। विधानसभा में भाकपा माले विधायक के साथ हुई धक्का-मुक्की की घटना की निंदा करते हुए तेजस्वी यादव ने कहा कि विधानसभा में जनप्रतिनिधियों के साथ धक्का-मुक्की की जा रही है, ऐसा ना तो पहले हमने कभी देखा था और नहीं सुना है। इस सरकार में अफसरशाही चरम पर है। उन्होंने कहा माले विधायक पर जो पुलिस वाले हैवानियत की है, उसके खिलाफ सरकार कार्रवाई करे। उन्होंने कहा कि उनके आवास पर भी इस इंस्पेक्टर ने कुछ ऐसा बर्ताव किया था और मेरे आवास से भी आम जनता को भगाया गया था।
एनडीए के शासन काल में अपराध दोगुना
तेजस्वी यादव ने इससे पहले नीतीश कुमार सरकार पर प्रहार करते हुए दावा किया कि लालू प्रसाद के 15 साल के शासन की तुलना में राजग के कार्यकाल में अपराध दोगुना हो गया है। राज्यपाल फागू चैहान के अभिभाषण पर पेश धन्यवाद प्रस्ताव पर मंगलवार को हुई चर्चा में हिस्सा लेते हुए तेजस्वी यादव ने यह दावा किया।
तेजस्वी ने कहा कि लालू प्रसाद ने जब सत्ता छोड़ी उस समय प्रदेश में संज्ञेय अपराधों की संख्या 97,850 थी जो राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन के शासनकाल के दौरान (वर्ष 2018 में) बढ़कर 1,96,911 हो गए, इस प्रकार संज्ञेय अपराधों की संख्या में 101.2 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई। वही दूसरी ओर आरजेडी के वरिष्ठ नेता सह अधिवक्ता रजनीकांत यादव ने कहा, सीतामढ़ी में एक बहादूर दारोगा शराब माफियो से लड़ते शहिद हो गए, लेकिन नीतीश सरकार ने उनके विलखते परिवार के लिए अभी तक कुछ नही किया, सरकार मृतक दारोगा के परिजनो को 50 लाख मुआवजा और एक को नौकरी देने की घोषणा करे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here