तेज को लेकर फिर फंसे राजद सुप्रीमो संकट में

0
142

तेज ने फिर एक बडे नेता उठाई उंगली

लालू के बडे लाल सुधरने का नाम नही ले रहे,  जिसके चलते राष्‍ट्रीय जनता दल  के अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव  फिर अपने बेटे तेज प्रताप यादव को लेकर संकट में हैं। तेज प्रताप आरजेडी के प्रदेश अध्‍यक्ष जगदानंद सिंह  तथा तेजस्‍वी यादव के राजनीतिक सलाहकार संजय यादव के खिलाफ कार्रवाई की मांग पर अड़े हुए हैं। उधर, तेजस्‍वी ने दो-टूक कहा है कि पार्टी में अनुशासनहीनता बर्दाश्‍त नहीं की जाएगी। इसके बावजूद झुकने को तैयार नहीं तेज प्रताप ने अब दिनकार के काव्‍य संग्रह ‘रश्मिरथी’ के तृतीय सर्ग ‘कृष्‍ण की चेतावनी’ के माध्‍यम से पार्टी महाभारत के जंग की अपनी अंतिम चेतावनी  दे डाली है। जिसके चलते राजद सुप्रीमो को पार्टी बचाने की टेंशन बढ गयी है ।

तेज प्रताप ने दी महाभारत के युद्ध की चेतावनी

खुद को अपने अर्जुन (तेजस्‍वी यादव) का कृष्‍ण बताने वाले तेज प्रताप यादव ने राष्‍ट्रकवि रामधारी सिंह दिनकर  की प्रसिद्ध कविता ‘कृष्‍ण की चेतावनी’ को पोस्‍ट कर स्‍पष्‍ट संदेश दिया है कि वे झुकने को तैयार नहीं हैं। कविता स्‍पष्‍ट करती है कि तेज प्रताप ने सुलह की पूरी कोशिश की, लेकिन ऐसा नहीं हो सका है। जब मानव का नाश काल आता है, तब उसका विवेक मर जाता है। कविता के माध्‍यम से तेज प्रताप ने अब महाभारत के युद्ध  की अंतिम चेतावनी दे डाली है।

फेसबुक पेज पर पोस्‍ट की दिनकर की कविता

तेज प्रताप ने अपने फेसबुक पेज पर यह कविता पोस्‍ट की है। इसमें भगवान कृष्‍ण  व दुर्योधन संवाद के तहत उनकी नजर में दुर्योधन कौन है, इसे लेकर कयास लगाए जा रहे हैं। हालिया घटनाक्रम को देखें तो उनका इशारा पार्टी के  प्रदेश अघ्‍यक्ष जगदानंद सिंह की ओर है। जगदानंद सिंह ने तेज प्रताप यादव के करीबी आकाश यादव  को छात्र आरजेडी के अध्‍यक्ष पद से हटा दिया है, जिसे तेज प्रताप पर लगाम लगाने की कोशिश के रूप में देखा जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here