चुनाव आयोग के हाथो में गए लोजपा का तकदीर

0
148

कार्यकारणी ने पारस के दावे को की खारिज

लोक जनशक्ति पार्टी का असली वारिस कौन होगा,  यह फैसला शायद अब चुनाव आयोग ही करेगा। इस बीच चिराग पासवान ने दिल्‍ली स्थित अपने आवास पर राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक आयोजित कर दावा किया उनके चाचा पारस की ओर से किए गए दावे पूरी तरह गलत और निराधार हैं। उन्‍होंने कहा कि राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी का बहुमत उनके साथ है और वे अभी भी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष और संसदीय बोर्ड के चेयरमैन बने हुए हैं। चिराग ने इस मसले पर लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिड़ला से मिलकर भी शनिवार की शाम अपनी बात रखी थी। अब उनकी पार्टी चुनाव आयोग से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक जाने की तैयारी में है। चिराग को कार्यकारिणी की बैठक बुलाने का अधिकार नहीं

इससे पहले लोजपा के पारस गुट ने शनिवार को नया दांव चलते हुए लोजपा के राष्ट्रीय एवं प्रदेश के विभिन्न प्रकोष्ठों की कमेटियों को तत्काल प्रभाव से भंग कर दिया था। पशुपति कुमार पारस ने बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय, प्रदेश एवं विभिन्न प्रकोष्ठों की कमेटियों की घोषणा जल्द की जाएगी। चिराग गुट द्वारा राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक बुलाए जाने पर पारस ने कहा कि चिराग को यह बैठक बुलाने का अधिकार नहीं है। पार्टी संविधान के मुताबिक वे राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं। फिलहाल पार्टी की सोलह सदस्यीय राष्ट्रीय कार्यकारिणी गठित कर दी गई है। एक सवाल पर उन्होंने बताया कि चुनाव आयोग को कार्यकारिणी के सदस्यों की सूची अभी इसलिए नहीं सौंपी गई है कि नई राष्ट्रीय कार्यकारिणी से मंजूरी ली जाएगी।

पारस गुट की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी में ये चेहरे पारस गुट की ओर से गठित राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी में सांसद चौधरी महबूब अली कैसर, सांसद वीणा देवी, पूर्व सांसद वीणा सिंह, पूर्व विधायक सुनीता शर्मा तथा अनिल चौधरी को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, सांसद चंदन सिंह एवं प्रिंस राज, पूर्व विधायक विरेश्वर सिंह, डॉ. उषा शर्मा, राकेश चौधरी, रणवीर सिंह गुठा, रामजी सिंह और राज कुमार राज को महासचिव, हीरा प्रसाद मिश्रा को सचिव, संजय सर्राफ को राष्ट्रीय प्रवक्ता एवं महासचिव, विनोद नागर को राष्ट्रीय कोषाध्यक्ष एवं प्रवक्ता नियुक्त किया गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here