कोरोना का मास्टर माइंड निकला जालिम मुखिया

0
140

नेपाल से आए बिहार में 50 संक्रमित
मोकामा में पकड़े गए नौ जमाती

नेपाल के जालिम मुखिया भारत का निकला एक नम्बर का दुश्मन। जालिम नेपाल में जमातियो का सरदार बना बैठा है, और बिहार में नेपाल के रास्ते कोरोना मरीजो को भेजने का एक प्लान तैयार कर रखा है, वह धंधे से कुख्यात तस्कर है, सूत्रो की माने तो नेपाल में अभी 5 हजार से अधिक जमातियो का जत्था एकत्र है, ओर ये सभी बिहार में धुस गए तो नेपाल से सटे मुजपफरपुर, सीतामढ़ी, मोतिहारी, बेतिया, शिवहर और रक्सौल के लाखो लोगो का हश्र क्या होगा! वैसे तो सूत्रो की माने तो पहले चरण मे नेपाल से 40 से 50 कोरोना संक्रमित देश के अंदर धुस गए है, और अन्य आने की फिराक में है, हालांकि इस संबध में 3 अप्रैल को देश के गृह मंत्रालय और एसएसबी के अधिकारियो ने बेतिया और पटना डीएम को तो अगाह किया था, लेकिन उस समय दोनो अधिकारियों ने इसे हल्के में ले लिया, और इसका अंजाम सामने है, नतीजतन बिहार में यकायक मौलाना का कोरोना बम फूटने लगे। इस संबध में पत्रकारों ने दोनो डीएम से पूछा तो पुरानी बात कह पल्ला झाड़ लिए, उधर बिहार में कोरोना का आंकड़े बढने के बाद राज्य के पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडे ने शुक्रवार को इस मामले को गंभीरता से लेते हुए सूबे के सभी डीएम/एसपी को बिहार और नेपाल के सभी सीमाएं सील करते हुए सर्तकता बरतने का आदेश दिए है, हालांकि बिहार में गुरुवार तक कोरोना के 51 मरीज थे, शुक्रवार को इसमें नौ का इजाफा हो गए, यानी आंकड़े 60 के पार हो गए, सीवान में तो एक परिवार में 23 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए है, आंकड़े देखे तो सीवान में कल तक 23 लोग कोरोना से संक्रमित थे, वही शुक्रवार होते आंकड़े में 6 और की बृद्वि हो गई, वहा के आंकड़े बढ़ते देख बिहार शासन ने पुरे सीवान क्षेत्र को हाॅट स्पाट घोषित कर दिया है, बेगुसराय और नवादा जिले के कई क्षेत्र पहले ही हाॅट स्पाट घोषित किए गए है।
सीवान में आए थे युवक ओमान से
वैसे बिहार में भी हजारो लोग विदेश से आए है, लेकिन दूबके घरो में बैठक है। बिहार के डीजीपी ने सूबे के सभी एसपी को ऐसे लोगो को खोज निकालने का आदेश दिए है, सीवान में जो एक परिवार के 23 लोग कोरोना पाॅजिटिव पाए गए है, उनके घर का एक लड़का ओमान में काम करते थे और वहा से लौटने के बाद घरो में रह गए, 15 दिन पहले आए थे, लेकिन परिवार वालो ने इसकी सूचना प्रशासन को नही दी, जो उनके लिए काल हो गया, इसी तरह से कई लोग और है, जो विदेशो से आए है, वह किसी न किसी धर्मिक स्थलो पे छिपे है, हालांकि बिहार प्रशासन ने कई वार ऐसे लोगो को हिदायत दे चुकी है कि सामने आए और अपनी जांच कराए, लेकिन नही आए सामने।

छपरा में जांच को लिए गए 216 सैंपल
डीएम ने अधिकारियों दिए कई आदेश

छपरा और सीवान वाॅर्डर बिल्कुल आसपास है, छपरा के लोग सीवान पैदल भी जा सकते है, छपरा के जिलाधिकारी ने शुक्रवार को अपने क्षेत्र के सभी अधिकारियों को विदेशो से आए लोगो को चिन्हित कर ततकाल सूचित करने का आदेश दिए है, छपरा में फिलहाल दो पाॅजिटिव केस पाए गए है, 216 लोगो की सैंपल जांच के लिए भेजे गए है।

सीतामढ़ी में चमकी ने दी फिर दस्तक
मुजपफरपुर डीएम हुए सर्तक

एक तरफ लोग कोरोना की मार से परेशान है तो एक साल बाद चकमी ने फिर सीतामढ़ी के बाजपटृटी में दस्तक दे दी है, वहा चकमी के मामले उजागर होने के बाद मुजपफरपुर और सीतामढ़ी में हड़कंप मच गए, हालांकि सूचना के आलोक में मुजपफरपुर के डीएम चंद्रशेखर सिंह ने शुक्रवार को जिले के अलाअधिकारियों को इस संबध में कई आदेश दिए, डीएम ने दोनो अनुमंडल के एसडीओ को इस संबध में सर्तकता बरतते हुए आवश्यक कार्रवाई करने का आदेश दिए है, दोनो अधिकारियों को इसे लेकर जागरुकता अभियान चलाने का भी आदेश दिए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here