केंद्र में पुरे हुए एनडीए सरकार की 7 साल

0
109

आरजेडी ने शुरू किए पोस्‍टर वार

केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार को सात साल पूरे हो गए हैं। इस मौके पर जहां बीजेपी कार्यकर्ता राज्य के 20 हजार गांवों में सेवा संगठन कार्यक्रम चला रहे हैं। वहीं विरोधी दल इसे नाकामी के सात साल बता रहे हैं। इसी बीच बिहार आरजेडी ने एक पोस्टर जारी किया है। इसके जरिए पार्टी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है। आरजेडी जनता को सरकार द्वारा किए वादों की याद दिलाई है। सात परेशानियों का किया जिक्र पोस्टर में आरजेडी ने सरकार की सात परेशानियों का जिक्र किया है। इसमें बेरोजगारी, महंगाई से लेकर कोरोना काल में हुई परेशानियां शामिल हैं। पोस्टर में पार्टी ने लिखा, ‘मोदी तेरे सात साल में जनता हुई बेहाल।’ पार्टी ने केंद्र सरकार की जीएसटी, नोटबंदी पर भी निशाना साधा है। इसके अलावा काला धन वापस लाने, बेरोजगारी दूर करने को लेकर भी हमला किया है।

आरजेडी के वरिष्‍ठ नेता सह अधिवक्‍ता रजनीकांत यादव ने कहा, सात साल में मोदी सरकार ने भारत को बनाया एशिया का सबसे गरीब देश आरजेडी ने केंद्र सरकार के सात साल में रेल, भेल, गेल, बीएसएनएल, एलआईसी को पूंजीपतियों के हाथ में सौंपने पर निशाना साधा है। पार्टी ने कहा कि बीजेपी सरकार में सरसों का तेल 200 रुपये, एलपीजी 960 रुपये, पेट्रोल 100 रुपये और डीजल 93 रुपये हो गए हैं। मोदी जी आपने भारत को एशिया का सबसे गरीब देश बना दिया है। पापनाशिनी गंगा को शव-वाहिनी गंगा बना दिया। आरजेडी प्रवक्ता मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि केंद्र सरकार हर मोर्चे पर फेल है। सरकार को जब जनता के साथ होना चाहिए था तब वह सामान की कीमत बढ़ा रही थी। बीजेपी ने देश को आपदा में अकेला छोड़ दिया है। बाढ् का समय आ गया है,  मुजफरपुर में बागमती और लखनदेई ऊफान पर है, औराई और कटरा में बाढ का खतरा मंडराने लगा है और बिहार सरकार की नींद अब टूटी है। आरजेडी विधायक प्रेम शंकर ने भी केंद्र के मोदी सरकार और नीतीश सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, सारण के कई बांध में रिसाव शुरू हो गए है, बरसात के पहले सरकार को ध्‍यान देना चाहिए, लेकिन नही दिया। अगर वहा कुछ हुआ तो इसके लिए सरकार को गंभीर परिणाम भुगतना होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here