एमएलसी को मंहगा पडा सीएम के खिलाफ बोलना

0
204

अनुशासन कमेटी ने भेजी नोटिस

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर विवादित बयान देने वाले बीजेपी एमएलसी टुन्ना पांडेय को पार्टी की अनुशासन कमेटी ने नोटिस भेजा है। पांडेय लगातार सीएम नीतीश पर टिप्पणी कर रहे थे। जिसपर पार्टी ने एक्शन लिया है। वहीं जेडीयू ने उनके बयान का कड़ा रुख अपनाया था। बीजेपी एमएलसी ने कहा था, ‘नीतीश कुमार परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं। नीतीश कुमार मेरे नेता नहीं हैं। पूर्व सांसद शहाबुद्दीन को सच बोलने की सजा मिली थी। मेरा महागठबंधन से कोई कनेक्शन नहीं है। मैं केवल बीजेपी का नेता हूं। नीतीश 2009 के शराब घोटालेबाज हैं। बीजेपी में रहकर नीतीश कुमार के खिलाफ बोलने वाले एमएलसी को पार्टी की अनुशासन कमेटी ने गुरुवार को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। इसपर बीजेपी अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि पार्टी की अनुशासन कमेटी ने टुन्ना पांडेय को नोटिस भेजकर जवाब मांगा है। यदि पार्टी उनके जवाब से संतुष्ट नहीं होगी तो उनपर कार्रवाई हो सकती है। परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं नीतीश कुमार हाल ही में बीजेपी एमएलसी टुन्ना पांडेय ने कहा था कि शहाबुद्दीन को सच बोलने की सजा मिली। भागलपुर जेल से सिवान आने के बाद उन्होंने कहा था कि नीतीश कुमार परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं। अब मैं भी इस बात को दोहराता हूं। नीतीष एक बार दूसरी तो एक बाद तीसरे नंबर की पार्टी होने के बावजूद मुख्यमंत्री बने। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि वे परिस्थितियों के मुख्यमंत्री हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here