आरजेडी ने श्रमिको को लाने को देगी 50 ट्रेन

0
144

बोले तेजस्वी हानी चाहिए इच्छा शक्ति
आरजेडी और कांग्रेस मजदूरो के लाने के सवाल पर दांव खेल गए, कांग्रेस के चेयरपर्सन सोनिया गाधी ने राज्य के सभी इंका प्रभारियों को बाहर फंसे मजदूरो को लाने की व्यवस्था करने को कहा है तो वही बिहार के आरजेडी के वरिष्ठ नेता तेजस्वी यादव ने बाहर फंसे हजारो श्रमिको को लाने के लिए 50 ट्रेन देने का एलान किया है, वैसे तो बाहर से मजदूरो का लौटना शुरु हो गए है, लेकिन सियासत किराए के सवाल पर शुरु हो गयी है, आरजेडी के वरिष्ठ नेता तेजस्वी यादव ने तो सोमवार को नीतीश सरकार पर हमला बोलते हुए कहा, सरकार की इच्छा शक्ति मर चुकी है, और बाहर फंसे बदहाल श्रमिको से किराए के पैसे वसूल रही है, लगता है बिहार के खाजाने खाली हो गए है, कोरोना के नाम पर विधायको और पार्षदो से पैसे लिए गए, लेकिन कहा खर्च हुए, यह पता नही है, खैर, आरजेडी बाहर फंसे मजदूरो को लाने के लिए 50 टेने देने को तैयार है। सरकार को बदहाल मजदूरो से किराए नही लेना चाहिए, तेजस्वी यादव के बातो का समर्थन करते हुए आरजेडी के वरिष्ठ नेता रजनीकांत यादव ने कहा, सरकार के पास दिल हो तब न श्रमिको के बारे में सोचे। बिहार के मजदूर और छात्र परेशान है, लेकिन उसे लाने की चिंता सरकार को नही है। इस संबध में पूछने पर रेल मंत्रालय का कहना है कि जिन राज्यों के श्रमिको को ले जाना है, उस राज्य के सरकार को 15 फिसद किराया देना है, लेकिन दो राज्य छोड़ रेल को अन्य कोई राज्य पैसा नही दिए है। फिर भी सबसिडी देकर रेज मजदूरो को ले जा रही है। और मंत्रालय ने जो सफर के लिए क्षमताएं है, उससे अधिक यात्रियों को ले जाना भी नही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here