अररिया के कबैया गांव में 6 बच्चे जलकर खाक

0
22

सभी फूस के घर में पका रहे थे बाल
कुदरत का करिश्मा भी गजब है, अररिया में दर्दनाक हादसा में भाई-बहन समेत छह बच्चे जलकर खाक हो गए, वहा के लोगो का कहना है कि भुट्टा पकाते समय उड़ी चिंगारी से एक घर में लगी आग में भाई-बहन समेत छह बच्चे जिंदा जल गए। यह हादसा पलासी प्रखंड के कबैया गांव में मंगलवार की दोपहर एक बजे की है। सूचना के अनुसार मंगलवार की दोपहर पलासी प्रखंड के कबैया गांव में भाई-बहन समेत छह बच्चे फूस के बने घर लोगों से छिपकर भुट्टा(बाल) पका रहे थे। इसी दौरान उड़ी चिंगारी से घर में आग लग गई और बच्चों को घर से निकलने का मौका तक नहीं मिल सका। जब तक बच्चों का शोर सुनकर लोग पहुंचते तब तक वे सभी आग में जिंदा जल गए। घटना में किसी भी बच्चे को बचाया नहीं जा सका। घटना के बाद मौके पर अफरातफरी मच गई है। लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी है। मृतकों में युनुश का 5 वर्षीय बेटे अशरफ और 3 वर्षीय बेटी गुलनाज, मंजूर का 6 वर्षीय बेटा दिलवर, फारूक का 4 वर्षीय बेटा बरकस, मतीन का पांच वर्षीय बेटा अली हसन और तनवीर का 5 वर्षीय बेटा खुसनिहार शामिल है। घटना को लेकर ग्रामीणों का कहना है कि खेलने के दौरान घटना घटी है।
किशनगंज में भी जंदा जले थे छह लोग
बता दें कि इससे पहले बीते 15 मार्च को बिहार के अररिया से सटे जिले किशनगंज में भी घर में आग लगने से एक ही परिवार के पांच लोगों की मौत जिंदा जलने से हो गई थी। आग लगने के दौरान गैस सिलेंडर फटने से एक ही परिवार के गृह स्वामी और चार बच्चे जिंदा जल गए। मरने वालों में दो बेटियां भी शामिल है। गैस सिलेंडर का धमाका इतना जोरदार था कि घटनास्थल पर शव तक क्षत विक्षत हो गया। वहीं हादसे में मृत गृह स्वामी की पत्नी भी गंभीर रूप से झुलस गईं थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here